राम बालक राय।
~बकाया वेतन सहित 18 सूत्री समस्याओं के समाधान हेतु प्रदेश महासचिव ने लिखा पत्र

बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के द्वारा महापर्व होली के पहले सूबे के चार लाख शिक्षकों को बकाया वेतन देने की मांग बिहार के शिक्षा मंत्री विजय चौधरी से की गई है । इस बाबत संघ के कार्यकारी प्रदेश महासचिव रामचंद्र रॉय ने बताया कि संघ के पत्रांक 09 दिनांक 19-03-2021 के द्वारा सूबे के शिक्षा मंत्री को पत्र प्रेषित कर प्रारंभिक से लेकर उच्चतर माध्यमिक तक के सभी शिक्षकों का महा पर्व होली के अवसर पर भी अबतक महीनों से बकाया वेतन का भुगतान नहीं किया गया है । जिससे लाखों शिक्षकों में उदासी छाई हुई है । इसलिए शिक्षा मंत्री, प्रधान सचिव, निदेशक को पत्र प्रेषित कर होली के पहले मार्च तक बकाया वेतन व एरियर का भुगतान करवाने का आग्रह किया गया है । उन्होनें बताया कि समस्तीपुर जिले सहित राज्य भर शिक्षकों के 18 सूत्री समस्याओं का भी शीघ्र समाधान करने की मांग की गई है ।

शिक्षकों की मुख्य माँग:-
1.नगर निकाय एवं पंचायतीराज व्यवस्था के तहत प्रारंभिक से उच्चतर माध्यमिक स्तर के बहाल शिक्षकों व पुस्तकालयाध्यक्षों को होली के पूर्व मार्च तक का वेतन भुगतान किया जाय ।
2.माननीय उच्च न्यायालय पटना एवं विभागीय आदेश को ध्यान में रखते हुए पश्चिम चंपारण,किशनगंज, पूर्णिया, अररिया, सुपौल, जमुई,मधुबनी, मधेपुरा सहित अन्य जिले जहाँ अब तक डीपीई उत्तीर्ण शिक्षकों का अंतर वेतन की राशि का भुगतान नही किया गया है,अतिशीघ्र भुगतान करवाया जाय।

3.शिक्षकों के हड़ताल अवधि का बकाया वेतन की राशि उपलब्ध करवाते हुए शीघ्र भुगतान करवाया जाय।
4.मृत शिक्षकों के आश्रितों से संबंधित सम्यक दिशा-निर्देश जारी करते हुए आश्रितों को अविलंब अनुकम्पा, अनुदान की राशि सहित अन्य लाभ यथाशीघ्र प्रदान की जाय।
5.दो वर्षीय प्रशिक्षण में अनुत्तीर्ण शिक्षकों की सेवा को बरकरार रखते हुए अविलंब परीक्षा का आयोजन किया जाय तथा बकाया वेतन का भुगतान किया जाय ।
6.शैक्षणिक सत्र 2021-22 प्रारंभ होने से पूर्व छात्र-छात्राओं के हितार्थ पाठ्य-पुस्तक उपलब्ध कराई जाय।

7.प्रारंभिक विद्यालयों में कार्यरत पंचायतीराज व्यवस्था के तहत बहाल शिक्षकों का स्नातक ग्रेड में प्रोन्नति दी जाय।
8.दक्षता परीक्षा से वंचित शिक्षकों को अविलंब दक्षता परीक्षा का आयोजन कर सभी प्रकार के लाभों से आच्छादित किया जाय।
9.यूटीआई अंशदान, पेंशन योजना के तहत सरकार के द्वारा दी जाने वाली बकाया राशि का भुगतान करते हुए शिक्षकों द्वारा राशि की निकासी कर सकने से संबंधी आदेश निर्गत की जाय।
10.सभी कोटि के शिक्षकों को ग्रुप बीमा का लाभ दिया जाय ।
11.सभी प्रारंभिक विद्यालय में पालना-घर एवं छात्रों के लिए प्रयाप्त वेंच-डेस्क की व्यवस्था अविलंब की जाय ।
12.नवप्रशिक्षित शिक्षकों के वेतन निर्धारण की त्रुटियों का अविलंब निराकरण किया जाय।
13.नवगठित नगर-निगम,नगर-परिषद एवं नगर पंचायत के शिक्षकों को शहरी आवासीय भत्ता एवं मध्य विद्यालयों के पंचायतीराज एवं नगर निकाय शिक्षकों को वित्तीय प्रभार से संबंधित पत्र जारी किया जाय ।
14.गुणवत्तापूर्ण शैक्षणिक माहौल को ध्यान में रखते हुए शिक्षकों एवं छात्रों को कोविड-19 से संबंधित टीके की व्यवस्था अविलंब की जाय ।
15.प्राथमिक एवं मध्य विद्यालय में सफाईकर्मी की नियुक्ति की जाय ।
16.शारिरिक शिक्षकों को सामान्य शिक्षकों की भाँति प्रोन्नति के लाभ से आच्छादित किया जाय ।
17.शिक्षकों के शीघ्र अंतरजिला स्थानांतरण हेतू दिशा-निर्देश जारी किया जाय ।
18.31 मार्च 2015 के पश्चात नियुक्त सभी अप्रशिक्षित शिक्षकों की सेवा बरकरार रखते हुए बकाए वेतन आदि का भुगतान किया जाय।