#कोरोना संक्रमण से 269 डॉक्टरों की मौत#
 
कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान डॉक्टर अपनी जान जोखिम में डाल रहे हैं और महामारी की दूसरी लहर के दौरान 269 डॉक्टरों की मौत हो गई है. 

आईएमए के अनुसार, कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान कुल 269 डॉक्टरों की जान चली गई है’ इन डॉक्टरों में ज्यादातर की उम्र 30 से 55 साल के बीच थी.

आईएमए के आंकड़ों के मुताबिक, बिहार में संक्रमण से मरने वाले डॉक्टरों की संख्या सबसे ज्यादा दर्ज की गई. बिहार में अब तक कुल 78 डॉक्टरों की मौत हो चुकी है.

उत्तर प्रदेश में 37, दिल्ली में 28, आंध्र प्रदेश में 22, तेलंगाना में 19, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल में 14-14 डॉक्टरों ने संक्रमण से जूझते हुए अपनी जान गंवाई है.

हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. के.के. अग्रवाल का कोरोना से निधन

पद्म श्री से सम्मानित जाने-माने हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. के.के. अग्रवाल का कोरोना वायरस के कारण निधन हो गया. वह 62 वर्ष के थे.

अग्रवाल के आधिकारिक ट्विटर अकांउट पर एक बयान में यह जानकारी दी गई.

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अग्रवाल को पिछले सप्ताह एम्स में भर्ती कराया गया था और वह वेंटिलेटर पर थे’

बयान के अनुसार, ‘कोविड-19 से लंबी लड़ाई लड़ने के बाद’ सोमवार देर रात साढ़े 11 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली.

बयान में कहा गया, ‘वैश्विक महामारी के दौरान भी उन्होंने लोगों को शिक्षित करने के लगातार प्रयास किए और कई वीडियो तथा शैक्षिक कार्यक्रमों के जरिए करीब 10 करोड़ लोगों तक पहुंचे और अनेक लोगों की जान बचाई’ वह चाहते थे कि उन्हें खुश होकर याद किया जाए दुखी होकर नहीं.

पिछले 24 घंटों के दौरान, देश में कोरोना के नए 2,63,000 मामले सामने आए हैं, जबकि 4,22,000 से ज्यादा लोग संक्रमण से उबर चुके हैं. हालांकि, इसी अवधि में 4,329 लोगों की जान चली गई.